Add Your Blog | | Signup
जाले · 2W ago

सरकारी बेशर्मी

जस्टिस काटजू अपनी बेबाक व तल्ख़ टिप्पणियों के लिए जाने जाते हैं, फलस्वरूप वे सरकार और स्वयं न्यायपालिका को खटकते हैं.शराब की दूकानें नेशनल हाईवेज से 500 मीटर दूर करने का सुप्रीम कोर्ट का आदेश...
जाले · 3W ago

मीन मेख

आजाद देश के आजाद कलमकार लोग कोई भी,कहीं भी, किसी भी मुद्दे पर मीन मेख निकालते रहते हैं; अब उत्तर प्रदेश की नई योगी सरकार के कृषक-ऋण माफी के मामले को ही लीजिये आलोचक कह रहे हैं कि “ये वोटों प...
जाले · 3W ago

मेरा ड्राइविंग लाइसेन्स

मेरे ‘टू ह्वीलर्स & फ़ोर ह्वीलर्स’ ड्राइविंग लाइसेन्स को पिछले ३५ वर्षों में किसी परिवहन अधिकारी ने सड़क पर चेक नहीं किया क्योंकि मैंने कभी भी ऐसी नौबत नहीं आने दी. पिछली बार, सन 2012 में मेरे...
जाले · 4W ago

ठग्गूराम [किशोर कोना]

हिन्दी के प्रसिद्ध कवि स्वनामधन्य स्व. काका हाथरसी ने अपनी एक सुन्दर और यथार्थ विरोधाभाषी नामावली कविता के रूप में लिखी है, पर मेरे इस लेख का हीरो ठग्गूराम ठीक इसके उलट ‘मनसा वाचा कर्मणा’ अप...
जाले · 2M ago

बैठे ठाले - १७

हर शहर की अपनी अपनी खासियत होती है, पर जो बात लखनऊ में है, वह कहीं और नहीं है.अयोध्या से महज 40 मील दूर ये शहर राम जी के छोटे भाई लखन जी के नाम से है, ऐसा पौराणिक गल्पों पर विश्वास करने वाले...
जाले · 3M ago

लाखों सपनों का शहर - कोटा

दक्षिण-पूर्वी राजस्थान के हाड़ौती इलाके में बसा हुआ 900 वर्ष पुराना कोटा शहर पिछले 30 वर्षों के अंतराल में पुरानी राजशाही चौहद्दी से बाहर निकल कर एकाएक ‘एजुकेशन हब’ के रूप में विकसित हो गया ...
जाले · 3M ago

ऐफिशेन्सी बार

"प्रथम सीमेंट वर्कर्स वेज बोर्ड" के तहत आने वाले समस्त कर्मचारियों के लिए ‘नॉमेंक्लेचर’ व तदनुसार ‘पे-स्केल’ श्री जी.एल. गोविल (तब एसीसी के सीनियर एक्जेक्युटिव) की सदारत में तैयार किये गए थे...
जाले · 3M ago

अच्छाई के तार दूर तक जुड़े रहते हैं (संस्मरण )

मेरे एक नजदीकी रिश्तेदार श्री महेश चंदोला सन 1981 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके नौकरी की तलाश में मेरे पास लाखेरी आये तो स्वाभाविक रूप से सब तरफ नौकरी की संभावनाओं की तलाश की गयी....
जाले · 3M ago

खिचड़ी, मकसूद भाई के घर की

1980s के अंतिम वर्षों में अगस्त का एक दिन हमारे लिए चिंताओं व खुशियों से भरा रहा. उस शाम महावीर नगर तृतीय, कोटा, में रहने वाले मकसूद भाई के घर की बनी खिचड़ी का स्वाद मुझे आज भी अच्छी तरह याद ...
जाले · 4M ago

एक मुलाक़ात लोहिया जी से

स्व. राम मनोहर लोहिया जी नेहरू युग के सबसे बड़े समाजवादी नेता थे. वे प्रखर वक्ता थे, और भारत के सच्चे जनवादी प्रतिनिधि थे. सत्ता पक्ष के सभी लोग भी इस विपक्षी नेता का दिल से सम्मान करते थे.दे...