Add Your Blog | | Signup

जोग लिखी अपने समय, साहित्य और समाज पर मेरी टिप्पणियां

Hindi - Culture, Life, Literature
http://dpagrawal.blogspot.in/
जोग लिखी · 4h ago

क्या वाकई अगले कुछ सालों में पैट्रोल बहुत सस्ता हो जाएगा?

इन दिनों अमरीका के एक फ्यूचरिस्ट (भविष्यवादी) टोनी सेबा की कुछ भविष्यवाणियां खूब चर्चा में हैं. अपनी तीन किताबों में उन्होंने जो कुछ लिखा है और जिसे वे अपने भाषणों में भी प्राय: दुहराते हैं,...
जोग लिखी · 1w ago

फ्रांस में प्रथम महिला की उम्र को लेकर बवाल

फ्रांस की पिछली सरकार में मंत्री रहे इमैनुएल मैक्रॉन ने वहां  की राजनीति में भारी उथल-पुथल मचा दी है.  39 साल की उम्र में वो फ़्रांस की मुख्यधारा की वामपंथी और उदारवादी पार्टियों को हराकर रा...
जोग लिखी · 3W ago

अत्यधिक दुबलापन नहीं हो सकता है खूबसूरती का पैमाना

पिछले कुछ बरसों से भारत सहित दुनिया के बहुत सारे देशों में दुबलापन सौंदर्य का एक महत्वपूर्ण पैमाना रहा है. भारत में हमने अनेक फैशनेबल अदाकाराओं की तारीफ़ के संदर्भ में साइज़ ज़ीरो की भी खूब चर्...
जोग लिखी · 3W ago

जैसे हैं वैसे ही बने रहें हमारे हेतु जी...

कितनी यादें, कितनी छवियां! कितने उपकार, कितनी मीठी चुटकियां! और हों भी तो क्यों नहीं! सम्पर्क और अपनापे की उम्र भी तो बहुत छोटी नहीं है. ठीक से तो याद नहीं लेकिन शायद 1965 के आसपास की बात हो...
जोग लिखी · 3W ago

बिना अपराध किए ही भुगती 23 साल की सज़ा

अमरीका के क्लीवलैण्ड की अदालत ने एविन किंग नामक एक उनसठ वर्षीय व्यक्ति को बाइज़्ज़त बरी कर दिया है. एविन अपनी गर्ल फ्रैण्ड क्रिस्टल हडसन की हत्या के इलज़ाम में तेईस बरसों से  जेल में था.  क्रिस...
जोग लिखी · 1M ago

भले लोगों से खाली नहीं है हमारी दुनिया!

दुनिया के बहुत सारे देशों में, जिनमें हमारा भारत भी एक  है सेवाओं की सराहना स्वरूप टिप देना आम बात है. इधर अपने देश में तो कई रेस्तराओं ने बिल में ही बाकायदा सर्विस चार्ज के नाम पर टिप वसूल ...
जोग लिखी · 1M ago

कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना!

उन प्रसाधन कक्षों में, जिनका रख-रखाव सलीके से किया गया हो, दर्पण का होना सामान्य और स्वाभाविक बात है. अपने देश में सरकारी भवनों की बात अगर छोड़ दें तो मॉल्स वगैरह के साफ-सुथरे और बेहतर तरीके ...
जोग लिखी · 1M ago

इतनी भी आसान नहीं है एमबीए की डगर

व्यवसाय की दुनिया में अपने लिए जगह बनाने के इच्छुक अधिकांश युवाओं  का सपना  होता है कि वे किसी प्रतितिष्ठित बिज़नेस स्कूल से एमबीए कर लें.  माना जाता है कि इस पाठ्यक्रम का हिस्सा बनकर आप वो स...
जोग लिखी · 2M ago

पुरुषों की तुलना में स्त्रियों को ज़्यादा होता है तनाव

हाल में हुई  एक  शोध से यह पता चला है कि जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं का बुरा असर   पुरुषों की बजाय स्त्रियों पर ज़्यादा पड़ता है. ब्रिटेन की फिज़ीयोलॉजिकल सोसाइटी के माध्यम से लगभग दो हज़ार वयस्को...
जोग लिखी · 2M ago

ऐसा पुरस्कार जिसे पाकर कोई खुश नहीं हो सकता!

पुरस्कार पाकर हर कोई खुश होता है. अपने प्रयास और काम की सराहना तथा स्वीकृति भला किसे नापसंद होगी?  लेकिन हाल में सुदूर जापान में घोषित किये गए एक पुरस्कार ने हमें यह कहने को मज़बूर कर दिया है...