Add Your Blog | | Signup
पूनम वाणी · 1W ago

टैगोर की आदिवासियों में लोकप्रियता -------- रामचन्द्र गुहा

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )
पूनम वाणी · 3W ago

विचार संग्रह : व्यक्तित्व विकास

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )
पूनम वाणी · 1M ago

पहले दिमाग फोन से भी तेज था

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )आजकल फोन के बिना लोग रह ही नहीं सकते। जैसे फोन बहुत महत्वपूर्ण वस्तु हो ! पुर...
पूनम वाणी · 2M ago

क्या वास्तविकता में इंसान ऐसा कर सकता है ?

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )कहना, पढ्ना बहुत आसान है। क्या वास्तविकता में इंसान ऐसा कर सकता है ? अगर ऐसा ...
पूनम वाणी · 4M ago

जैसे इस सुकून के लिए सदियाँ गुजर गयी

My feelings 
पूनम वाणी · 4M ago

चाहत क्या ? नुकसान किसका ? ज़िंदगी में नाटक क्यों ?

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )
पूनम वाणी · 4M ago

"ज्वाइनिंग लेटर" आँगन छूटने का पैगाम लाता है " -------- श्याम माथुर

Shyam Mathur 19-07-2017 "बेटे डोली में विदा नही होते और बात है मगरउनके नाम का "ज्वाइनिंग लेटर" आँगन छूटने का पैगाम लाता है "जाने की तारीखों के नज़दीक आते आतेमन बेटे का चुपचाप रोता है अपने कमर...
पूनम वाणी · 5M ago

खीजें नहीं खुश रहें, दूसरों को सुधारने की लत से बचें

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )
पूनम वाणी · 5M ago

प्रयास करें तो -------- श्याम माथुर

Shyam Mathur10-07-2017बहुत समय पहले की बात है, किसी गाँव में एककिसान रहता था । उस किसान की एक बहुतही सुन्दर बेटी थी । दुर्भाग्यवश, गाँव केजमींदार से उसने बहुत सारा धन उधारलिया हुआ था ।किसान ...
पूनम वाणी · 5M ago

गिले शिकवे,सदुपयोग,साथी की पहचान

स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )