Add Your Blog | | Signup
सादर ब्लॉगस्ते! · 1M ago

शैलेन्द्र भाटिया को तथागत विशिष्ट सृजन सम्मान

पी सी एस अधिकारी और यमुना विकास प्राधिकरण के विशेष कार्याधिकारी शैलेन्द्र भाटिया को साहित्य के क्षेत्र में योगदान के लिए 'तथागत विशिष्ट सृजन सम्मान' कल एक समारोह में प्रदान किया गया। यह सम्म...
सादर ब्लॉगस्ते! · 2M ago

महालया पर सभी ने पूरी कर ली अपनी मुराद

सिलचर में मानो जनसैलाब उमड़ आया । जनसैलाब शब्द भी बराक नदी के किनारे उमड़ी भीड़ के लिए छोटा प्रतीत होता है । यदि इससे भी बड़ा कोई शब्द इस्तेमाल किया जाए तो अतिसयोक्ति नहीं होगी । चारों ओर बस सिर...
सादर ब्लॉगस्ते! · 5M ago

बिना पंखों के आसमान छूने का हौंसला

प्रतिभाएं कभी सुविधाओं की मोहताज नहीं होती बल्कि वे अवसरों का इंतज़ार करती हैं ताकि वक्त की कसौटी पर स्वयं को कस सकें. असम बोर्ड की इस बार की परीक्षाओं में कई ऐसे मेधावी छात्रों ने अपने परिश्...
सादर ब्लॉगस्ते! · 8M ago

हास्य व्यंग्य : म्हारे गुटखेबाज किसी पिकासो से कम न हैं

     अपने देश में कला की तो कोई कद्र ही नहीं है। आए दिन कोई न कोई ऐसा सरकारी फरमान जारी होता रहता है, जो कला का मानमर्दन करने को तत्पर रहता है। अब गुटखेबाज कलासेवी जीवों को ही ले लीजिए। कलास...
सादर ब्लॉगस्ते! · 9M ago

युगांडा का स्टेट हाऊस यानि सत्ता का एक मात्र केंद्र

ये है युगांडा के राष्ट्रपति का आधिकारिक निवास यानि स्टेट हाउस (State House) या राष्ट्रपति भवन...वैसा ही जैसा दिल्ली में हमारा राष्ट्रपति भवन है या फिर अमेरिका का व्हाइट हाउस. राजधानी कम्पाला...
सादर ब्लॉगस्ते! · 9M ago

जिंजा : जहां गांधी जी के भी प्राण बसते है

                                              My Rwanda-Uganda visit with Vice President: Oneजैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि मुझे उपराष्ट्रपति श्री मो हामिद अंसारी जी के साथ 19-23 फरवरी 2017 ...
सादर ब्लॉगस्ते! · 10M ago

सहिष्णुता की खोज (पुस्तक समीक्षा)

       इन दिनों अन्य विधाओं के अलावा व्यंग्य पर ज्यादा काम हो रहा है। यह खबर व्यंग्य यात्रियों के लिए अच्छी हो सकती है, क्योंकि व्यंग्य ही साहित्य में ऐसा धारदार हथियार है जो विसंगतियों, विद...
सादर ब्लॉगस्ते! · 10M ago

लघुकथा : भांड

जिले ने गंभीर हो नफे से पूछा, "भाई ये भांड किसे कहते हैं?""कोई कलाकार जब स्वार्थवश अपनी कला को बेच देता है तो वह भांड बन जाता है।" नफे ने समझाया।जिले सिर खुजाते हुए बोला, "भाई मैं कुछ समझा न...
सादर ब्लॉगस्ते! · 10M ago

मेरा नया व्यंग्य संग्रह 'सहिष्णुता की खोज'

 मित्रो इस विश्व पुस्तक मेले में मेरी पाँचवी पुस्तक व तीसरे व्यंग्य संग्रह 'सहिष्णुता की खोज' का विमोचन शोभना सम्मान समारोह व पहले ऐतिहासिक युवा व्यंग्य सम्मेलन में दो दिनों तक लगातार दो बार...
सादर ब्लॉगस्ते! · 10M ago

गौरव त्रिपाठी के वीडियो