Add Your Blog | | Signup

एक शाम मेरे नाम संगीत और साहित्य की धारा में बहने के ल

http://ek-shaam-mere-naam.blogspot.com
एक शाम मेरे नाम · 1d ago

अनारकली आरा वाली .. नारी की अस्मिता को उभारती एक सशक्त फिल्म Anaarkali of Arrah

आरा से मेरा छोटा सा ही सही, एक रिश्ता जरूर है। मेरे पिता वहाँ  तीन सालों तक पदस्थापित रहे। पहली बार इंटर में अकेले रेल यात्रा मैंने पटना से आरा तक ही की थी । आरा के महाराजा कॉलेज में संयोगवश...
एक शाम मेरे नाम · 5d ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पुनरावलोकन : कौन रहे पिछले साल के संगीत सितारे ? Top 25 Songs of 2016 : Recap

तो चलिए वार्षिक संगीतमाला 2016  के समापन के अवसर पर आज चर्चा करते हैं पिछले साल के संगीत सितारों पर। सबसे पहले संगीतकारों की बात। पिछले साल ए आर रहमान, विशाल भारद्वाज, सलीम सुलेमान, साजिद वा...
एक शाम मेरे नाम · 1W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 सरताज गीत: मेरे ज़िक्र का जुबाँ पे स्वाद रखना ..चन्ना मेरेया Channa Mereya

वार्षिक संगीतमाला 2016 की आख़िरी सीढ़ी पर पहुँचते हुए वक़्त आ गया है सरताजी बिगुल बजाने का और बिना किसी आश्चर्य के यहाँ गीत है फिल्म ऐ दिल है मुश्किल का। ये गीत पिछले साल खूब बजा और अभी भी लग...
एक शाम मेरे नाम · 1W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 रनर्स अप : इक कुड़ी जिदा नाम मोहब्बत गुम है गुम है गुम है Ikk Kudi

वार्षिक संगीतमाला 2016 के रनर्स अप खिताब का सेहरा बँधा है पंजाब के लोकप्रिय कवि शिव कुमार बटालवी की कविता इक कुड़ी जेदा नाम मोहब्बत के एक अंश पर आधारित उड़ता पंजाब के इस गीत के नाम। शिव कुमार ...
एक शाम मेरे नाम · 2W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान #3 : जग घूमेया थारे जैसा ना कोई Jag Ghoomeya

वार्षिक संगीतमाला 2016 की आख़िरी तीन पायदानें बची हैं और इन पर विराजमान तीनों नग्मे बड़े प्यारे व लोकप्रिय हैं और आपने पिछले साल इन्हें कई दफ़ा जरूर सुना होगा। संगीतमाला की तीसरी सीढ़ी  पर जो...
एक शाम मेरे नाम · 2W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान # 4 : पश्मीना धागों के संग कोई आज बुने ख़्वाब Pashmina

वार्षिक संगीतमाला की चौथी पॉयदान पर गीत वो जो अपने आप में अनूठा है। ये अनूठापन है इस गीत के उतार चढ़ावों में, इसके खूबसूरत संगीत संयोजन में, इसके साथ बहने वाले शब्दों में। फिल्म फितूर का एक ग...
एक शाम मेरे नाम · 3W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान # 5 : बापू सेहत के लिए तू तो हानिकारक है Hanikaarak Bapu

वार्षिक संगीतमाला के सरताज गीत से मुलाकात करने में पाँच कदमों का ही फासला रह गया है। पर आज पिछले कुछ महीनों में सबसे लोकप्रिय रहे गीत की बात करते हुए एक दूसरे सरताज से आपको जरूर मिलवाएँगे। ...
एक शाम मेरे नाम · 3W ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान # 6 : होने दो बतियाँ, होने दो बतियाँ Hone Do Batiyan

वार्षिक संगीतमाला की छठी पॉयदान के हीरो हैं संगीतकार अमित त्रिवेदी जिन्होंने गीतकार स्वानंद किरकिरे के साथ मिलकर एक बेहद प्यारा युगल गीत रचा है फिल्म फितूर के लिए। जेबुन्निसा बंगेश व नंदिनी ...
एक शाम मेरे नाम · 1M ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान # 7 क्यूँ रे, क्यूँ रे ...काँच के लमहों के रह गए चूरे'? Kyun Re..

वार्षिक संगीतमाला के साल के दस बेहतरीन गीतों की फेरहिस्त में जो गीत सबसे ज्यादा ग़मगीन कर देता है वो हैं क्यूँ रे...। बच्चे किसे प्यारे नहीं होते। उनका निर्मल मन, उनकी खिलखिलाती हँसी, उनकी श...
एक शाम मेरे नाम · 1M ago

वार्षिक संगीतमाला 2016 पायदान #8 क्या है कोई आपका भी 'महरम'? Mujhe Mehram Jaan Le...

हर साल फिल्मी गीत कुछ अप्रचलित शब्दों को हमारी बोलचाल की भाषा में डाल ही देते हैं। बहुधा ऐसा निर्माता निर्देशक गीतों में एक नवीनता लाने के लिए करते रहे हैं। पिछले कुछ सालों में अम्बरसरिया, ज...