Add Your Blog | | Signup
Mohitness {मोहितपन} · 1M ago

बोगस परग्रही (कहानी) #ज़हन

बोगस परग्रही सीरीज़ में आपका स्वागत है। यहाँ हर एपिसोड में हम कवर करेंगे भौजीकसम ग्रह के दो खोजी-टोही वैज्ञानिक कुच्चु सिंह और पुच्चु सिंह के रोमांचक कारनामे। ब्रह्माण्ड में तैरते अनगिनत पत्थ...
Mohitness {मोहितपन} · 1M ago

तेज़ाबी आँखें (कहानी) #ज़हन

**Warning: Contains Strong Language**पिछले कुछ समय से सीतापुर स्थित एक स्वयंसेवी संस्था के संचालक अनिक कृष्णन देश और दुनिया की सुर्ख़ियों में छाये थे। एकतरफा प्यार और खुन्दक की वजह से हुए एसि...
Mohitness {मोहितपन} · 2M ago

कुपोषित संस्कार (व्यंग)

वर्ष में एक बार होने वाले धार्मिक अनुष्ठान, हवन के बाद अपने अपार्टमेंट की छत पर चिड़ियों को पूड़ी-प्रसाद रखने गया तो 150 पूड़ियाँ देख के मन बैठ गया कि मेरी पूड़ी तो इतनी कुरकुरी भी नहीं लग रही ज...
Mohitness {मोहितपन} · 2M ago

टीनएज ट्रकवाली (कहानी) #ज़हन

थाने में बैठा कमलू सिपाहियों, पत्रकारों और कुछ लोगो की भीड़ लगने का इंतज़ार कर रहा था ताकि अपनी कहानी ज़्यादा से ज़्यादा लोगो को सुना सके। पुलिस के बारे में उसने काफी उल्टा-सुल्टा सुन रखा था तो ...
Mohitness {मोहितपन} · 3M ago

Jug Jug Maro #2 - Nashedi Aurat (Alcoholic Woman)

 जुग जुग मरो #2नशे, दारु की लथ में अपना पति खो चुकी औरत नशे में ही उसे ढूँढ रही है और पूछ रही है ऐसी क्या ख़ास बात है नशे में जो कितनी आसानी से कितनी ज़िन्दगीयां लील लेता है। इस बार एक कविता औ...
Mohitness {मोहितपन} · 3M ago

रंग का मोल (कहानी) #ज़हन

आज भारत और नेपाल में हो रहीं 2 शादियों में एक अनोखा बंधन था। दिव्यांशी अपने सांवले रंग को लेकर चिंतित रहती थी। सारे जतन करने बाद भी उसका रंग उसकी संतुष्टि लायक नहीं हुआ। दिव्यांशी का मीनिया ...
Mohitness {मोहितपन} · 3M ago

कुत्ते ने काट लिया! (हास्य कहानी) #ज़हन

दिलजला कुत्ताकुत्ते के काटने और गोली लगने में तुलना की जा सकती है। जैसे कुत्ता काटकर निकल ले, उसके दाँतों और आपके शरीर का कोण सही ना बैठे या आप तुरंत छुड़ा लें, तो उसे गोली शरीर से छूकर निकलन...
Mohitness {मोहितपन} · 3M ago

दूजी कोख में 'अपना' बच्चा (कहानी)

Artwork - Kishore Ghosh"यह सर राजस्थान कहाँ पैसे भेज रहे हैं पिछले कुछ समय से? किसी कोर्ट केस में फँस गए क्या? इतने सालो से विदित सर के साथ हूँ, ऐसा कुछ छुपाते तो नहीं हैं वो मुझसे।" स्टील व...
Mohitness {मोहितपन} · 4M ago

स्लीपर क्लास पत्नी, फर्स्ट ए.सी. पति (कहानी)

कुंठा अगर लंबे समय तक मन में रहे तो एक विकार बन जाती है। कुंठित व्यक्ति यूँ ही गढ़ी बातों को बिना कारण विकराल रूप दे डालता है। कुछ ऐसा ही हाल विकल को अपने मित्र और बिज़नस पार्टनर चरणप्रीत का ल...
Mohitness {मोहितपन} · 4M ago

छूटी डोर (कहानी)

हिन्दी, अंग्रेजी साहित्य के बहुत बड़े समीक्षक-आलोचक, अनुवादक श्री अनूप चौबे का टी.वी. साक्षात्कार चल रहा था। साक्षात्कारकर्ता अनूप के पुराने मित्र नकुल प्रसाद थे। कुछ सवालो बाद नकुल को एक बात...