Add Your Blog | | Signup

सरिता यश भाटिया व्यवसाय से शिक्षिका,अध्यात्मिक,कवि हृदय,परमपिता में आस्था....... सरिता मेरा नाम है , चलते रहना मेरा काम है! रोके से ना रुक पाती, साथ बहा कर ले जाती! मुझे राह बनानी आती है, मुश्किलें तो मेरी साथी हैं! सागर में खो जाना भाता है, मुझे साथ निभाना आता है! अगर कहीं रुक जायूँ मैं, फिर दामिनी बन जायूँ मैं! मैं ममता की ख़ान हूँ, अपने घर की आन हूँ! भावों से ना खाली हूँ, असूरों के लिए काली हूँ! जब दुश्मन सामने पाती हूँ, मैं दुर्गा बनकर आती हूँ!!

सरिता's Links: Facebook

सरिता's Stream

सरिता hasn't shared anything yet.